दिनांक 12/04/23 को थाना देहात पर ऱात्रि 08 बजे निशा जोगी पत्नी राकेश जोगी निवासी शंकर कॉलोनी अशोकनगर ने थाने पर उपस्थित होकर मौखिक सूचना दी कि मेरा पति राकेश जोगी शराब के नशे में दोपहर के 12 बजे मेरी 03 साल की बेटी को लेकर गया है । मेरे पति का मोबाईल बंद है । मेंने अपनी बेटी को अपने रिश्तेदारो में एंव कई स्थानो पर ढूढ लिया लडकी पायल नहीं मिल रही है । इस आशय की सूचना प्राप्त होने पर मुझ थाना प्रभारी द्वारा श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय को तत्काल सूचना से अवगत कराया गया श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा सूचना की संवेदनशीलता एवं गंभीरता को समझते हुए तत्काल श्रीमान एसडीओपी महोदय अशोकनगर श्री शक्ति सिंह चौहान के नेतृत्व में बच्ची को ढूंढने के लिए 05 टीमें गठित की प्रथम टीम में श्रीमान एसडीओपी महोदय, दूसरी टीम में थाना प्रभारी देहात उनि. रोहित दुबे, तीसरी टीम में सउनि विनोद तिवारी थाना कोतवाली, चौथी टीम में सउनि पहलवान सिंह चौहान, पांचवी टीम में सउनि राकेश सिंह कुशवाहा को गठित कर सभी टीमों को अशोक नगर के बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, मंडी, कबीरा रोड एवं शहर के आउटर सभी क्षेत्रों में लगातार भ्रमण कर बच्ची को ढूंढने हेतु निर्देशित किया गया लगातार 2 घंटे की मशक्कत के बाद कबीरा रोड अशोक नगर में बच्ची को ढूंढने में सफलता पाई एवं उक्त बच्ची को उसकी मां निशा जोगी को सुपुर्द किया एवं बच्ची के पिता राकेश जोगी को भी उचित समझाइस देकर परिवार के साथ रुकसत किया गया यदि पुलिस को 3 वर्षीय बच्ची पायल के संबंध में दी गई सूचना को तत्परता से नहीं लेती तो कोई भी अप्रिय घटना घटित हो सकती थी । पुलिस की सूझबूझ एवं तत्परता के चलते बच्ची पायल जोगी को 2 घंटे के अंदर ही ढूंढ कर उसकी मां को सुपुर्द किया गया श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा टीमों में लगे अधिकारी /कर्मचारी उनि. रोहित दुबे, सउनि. विनोद तिवारी, सउनि. राकेश सिंह कुशवाह ,सउनि. पहलवान सिंह चौहान, प्रधान आरक्षक 217  नीरज सिंह, प्रधान आरक्षक 199  बृजेश दोहरे, प्रधान आरक्षक 435 जगदीश यादव प्रधान आरक्षक अतेंद्र यादव, प्रधान आरक्षक 108  यशपाल सिंह, प्रधान आरक्षक रामबहादुर, आर. निशांत छारी को पुरस्कृत करने की घोषणा की गई है